+91-93145-11742
+91-93145-11742
sawan
Parts of Speech (Detailed Description : The Adverb)

The Adverb
Definition :- An adverb is a word which modifies the meaning of a verb and adjective or another adverb.
Adverb modifies : Verb, Adjective, Adverb itself
1. He runs slowly (Verb)
2. She is very beautiful (Adjective)
3. He runs very slowly (Adverb itself)

Kinds of Adverb
1. Adverb of time (Answer of ‘when’)
(i) I have heard this before.
(ii) I hurt my knee yesterday.
2. Adverb of frequency (Answer of ‘how often’)
(i) He always tries to do his best
. (ii) He often makes mistakes.
3. Adverb of Place (Answer of ‘where’)
(i) The little lamb followed Marry everywhere.
(ii) Is Mr. Das within ?
4. Adverb of manner (Answer of ‘how’)
(i) Kavita writes clearly.
(ii) The soldiers fought bravely.
5. Adverb of Degree/quantity (Answer of ‘how much’ or ‘to what extent’)
(i) These mangoes are partly ripe.
(ii) She is quite wrong.
6. Adverb of Affirmation and Negation. (Answer in ‘yes/no’)
(i) Surely you are mistaken.
(ii) I do not know him.

The Placement of Adverb
Adverb को कहां लगाया जाय उसके लिए कुछ नियम हैं जो इस प्रकार है-
1. जब Adverb किसी Adjective या Adverb को modify करता है तब यह Adjective या Adverb के पहले लगेगा।
(i) The mangoes you brought were quite ripe.
(ii) This box is too heavy for me to lift.
(iii) He spoke very loudly.
(iv) He seized my hand rather roughly.
Note : उपरोक्त वाक्यों में quite, too, very, rather 'Adverb' हैं।
But : The word ‘enough’ when it is an adverb not an adjective is placed after the word it qualifies.
(i) Your pay is good enough for your work.
(ii) We have enough money.
2. यदि Intransitive verb को Modify करना है तो Adverb इसके शीघ्र बाद लगेगा।
(i) I laughed heartily at the joke.
(ii) He spoke foolishly about his own merits.
But : Adverb of time (intransitive verb के साथ) हमेशा verb के पहले लगता है।
(i) I seldom stayed with my parents.
(ii) She sometimes slept in my house.
(iii) He often came here to see me.
3. यदि Verb transitive है तो Adverb या तो verb के पहले आएगी या object के बाद आएगी।
(i) He finished his work patiently.
(ii) He patiently finished his work.
(iii) I bore my troubles cheerfully.
(iv) I cheerfully bore my troubles.
4. जब दो या दो से अधिक Adverb verb के बाद हो तो उनका क्रम इस प्रकार रहेगा।
(i) Adverb of manner (how),
(ii) Adverb of place (where),
(iii) Adverb of time (when).
Order - How, where, when
(i) She sang well in the concert yesterday.
(5) Adverbs जैसे कि ‘almost’, ‘already’, ‘usually’, ‘hardly’, ‘nearly’, ‘just’, ‘quite’ इन Adverbs को subject और verb के बीच में लगाते हैं जब verb एक ही शब्द की हो और यदि verb एक से ज्यादा शब्दों का हो तो adverb पहले शब्द के बाद लगाया जाएगा।
(i) His wife never cooks.
(i) He has never seen a tiger.
(iii) We usually have breakfast at night.
(iv) My uncle has just gone out.
(v) I quite agree with you.
But : यदि Verb is/are/am/was/were हो तो इन्हीं Adverbs को उन verbs के बाद लगाएंगे।
(i) I am never late for school.
(ii) He is always at home on Sundays.
(iii) We are just off.
(6) Auxiliary verb ‘have to’ and ‘used to’ adverb को हमेशा अपने से पहले लेते हैं।
(i) I often have to go to college on foot.
(ii) He always used to agree with me.

Correct use of some adverbs
1. ‘Very’ and ‘Much’
Very–its uses
(a) Positive Degree के Adjective के पहले
(i) The apple is very sweet.
(ii) The water was very hot.
(iii) The children are very innocent.
(b) Superlative Degree के Adjective के पहले
(i) Jack is the very best boy of his class.
(c) Present Participle के पहले
(i) He is a very promising boy.
(ii) This is a very shocking news.
(iii) It was a very pleasing sight.
Note : Very को विशेषण के रूप में भी use किया जा सकता है, तब इसे noun के पहले use किया जाता है और इसका अर्थ 'वहीं होता है
(i) This is the very book I wanted.
(ii) This is the very boy who helped me.
Much–its uses
(a) Comparative Degree के Adjective के पहले
(i) This mango is much sweeter than that one.
(ii) Jaipur is much colder in winter than Kolkata.
(iii) My house is much bigger than yours.
(b) Superlative Degree के पहले
(i) This is much the best mango.
(ii) He is much the brightest boy of his class.
(c) Past Participle के पहले
(i) I am much fatigued.
(ii) She is much disgusted with life.
(iii) The old man was much vexed.
(d) Much किसी verb को qualify कर सकता है।
(i) She talks much.
Note : परन्तु tired, pleased, surprised, celebrated (प्रसिद्ध) limited (सीमित) के साथ much के स्थान पर very का इस्तेमाल होता है। नियमत: इनके साथ much का प्रयोग होना चाहिए था। I am very tired. I am very pleased. You are very contented (संतुष्ट). She was very dejected. He is a very celebrated scholar. (वे प्रसिद्ध विद्वान हैं) परन्तु इन दो, चार Past Participle को छोड़कर अन्य के साथ much का ही प्रयोग होता है। Afraid (डरा हुआ) के साथ much लगता है। He was much afraid.

2. ‘Too’ and ‘Very’
Too–its uses
Too Adverb का अर्थ उचित से अधिक (more than proper, more than required) है। यह निन्दा-बोधक शब्द है। यह अवांछनीय (unpleasant) चीजों के लिए आता है। The wind is too cold. (हवा बहुत सर्द है।) The weather is too hot. (मौसम अत्यधिक गर्म है।) यहां लेखक को गर्मी के कारण मौसम पसंद नहीं है। परन्तु विद्यार्थी ह्लशश का प्रयोग very के स्थान पर करते हैं। यह भूल है। Very में उचित मात्रा की मर्यादा को लांघने या वक्ता को अरुचि आदि का भाव नहीं है। वह केवल किसी adjective के अर्थ में उत्कर्ष ले आता है। पर too निन्दा सूचित करता है। Too का एक और अर्थ है। वह नकारात्मक अर्थ भी रखता है–The old man was too weak to walk. (बूढ़ा आदमी इतना कमजोर था कि चल नहीं सकता था।) The water was too cold to drink. (पानी इतना सर्द था कि हम लोग पी नहीं सकते थे।) Very में इस तरह कोई भाव नहीं है। नकारात्मक अर्थ में too के बाद infinitive भी आता है। ऊपर के वाक्यों में ‘to walk’ और ‘to drink’ Infinitive, ‘too’, adverb के बाद आए हैं।

3. Enough का अर्थ उचित मात्रा में है। यह जिस Adjective या Adverb को modify करता है, उसके बाद में आता है, पहले नहीं। यह वांछनीय pleasant वस्तु के लिए आता है।
(a) He was bold enough to catch the snake.
(b) I don’t know the man well enough.
(c) The man does not work enough.
(d) Are you warm enough? (क्या आप काफी गर्म हो चुके हैं?)
परन्तु जब enough, Adjective रहता है तो वह Noun के पहले रहता है। He has enough money. I have enough bread. You have enough time. कहीं-कहीं यह Noun के बाद भी आता है। The food was enough for ten men.
4. Fairly, Rather
दोनों का अर्थ साधारण मात्रा में (to a moderate degree) है। परन्तु दोनों में एक सूक्ष्म अन्तर है। वांछनीय (pleasant) गुण के साथ हम fairly का और अवांछनीय (unpleasant) के साथ rather का प्रयोग करते हैं।
(a) I am fairly hopeful.
(b) He was rather hopeless.
(c) The man is fairly well.
(d) I am rather ill.
ऊपर hopeful (आशायुक्त) वांछनीय चीज है। अत: fairly आया। hopeless (निराशाजनक) अवांछनीय है, इसलिए rather आया। इसी प्रकार well वांछनीय है, अत: fairly और ill अवांछनीय है, अत: rather आया।

5. Just now, Presently, Shortly, Soon
ऊपर के जितने Adverbs हैं उनमें presently, shortly, soon का प्रयोग Future Tense में और just now का प्रयोग Present Perfect में होता है। Soon का प्रयोग भूतकाल में भी हो सकता है। I am presently going to Jaipur. (मैं शीघ्र ही जयपुर जाऊंगा।) He is shortly coming. (वह शीघ्र ही आ रहे हैं।) We shall soon start for Mumbai. (हमलोग शीघ्र ही मुंबई के लिए प्रस्थान करेंगे।) Just now का प्रयोग Past या Present के लिए होता है। Future के लिए कदापि नहीं। He has come just now.
6. Before, Ago
दोनों का अर्थ हिन्दी में 'पहले' है। परन्तु दोनों के प्रयोग में अन्तर है। हम वर्तमान काल में किसी चीज को गिनती करके भूतकाल की ओर जाते हैं। तब ago और भूतकाल के ही किसी बिन्दु से भूतकाल के किसी दूसरे बिन्दु तक गिनती करते हैं तो before का प्रयोग होता है। His mother died two years ago. आज से दो वर्ष पहले ही उसकी मां मर गई। Jai went to Jaipur six weeks ago. आज से आठ सप्ताह पहले जय जयपुर चला गया। Aurangzeb sat on the throne, but he had sent his father to prison sometime before. औरंगजेब गद्दी पर बैठा। लेकिन उसके पहले उसने अपने पिता को कैद कर लिया था। Ago के स्थान पर back का भी प्रयोग हो सकता है। I met him some years back. कुछ वर्ष पूर्व उनसे मेरी मुलाकात हुई।

7. So and Such
दोनों का अर्थ 'ऐसा' है, परन्तु 'so' Adverb है और ‘such’ Adjective. अत: so का प्रयोग किसी Adective के पहले होना चाहिए और such का किसी Noun के पहले। She does not love such a boy. कभी-कभी किसी Noun और Adjective के एक साथ रहने के कारण so और such दोनों आते हैं। उस समय a, an Article का प्रयोग विचित्र ढंग से होता है। Such a good boy! So good a boy! Such a nice play! So nice a play! ऐसे वाक्यों का प्रयोग प्राय: Exclamatory (विस्मयादिबोधक) वाक्य में होता है।

8. Quite
अंग्रेजी में quite का प्रयोग विचित्र ढंग से होता है। इसका अर्थ 'साधारणत: अच्छा है। इसका अर्थ Very नहीं होता है। Very बहुत उत्कृष्ट मात्रा बतलाता है और quite साधारण मात्रा। यदि आप के मित्र आपसे मिलने आवें और आप कहें-I am quite glad to see you तो इसका मतलब यह हुआ कि आपका अपने मित्र के प्रति स्नेह नहीं है। यदि मित्र को देखकर आपको असाधारण खुशी हुई तो आपको कहना चाहिए-I am very glad to see you.

9. Of course, Certainly
हिन्दी में दोनों का अर्थ 'सचमुच' है। परन्तु दोनों का प्रयोग भिन्न है। जब एक क्रिया के फलस्वरूप कोई दूसरी क्रिया हो तो वहां of course लगता है। Certainly में ऐसे कोई प्रतिबंध नहीं है। Her father died; of course she is sorry. Certainly Pt. Nehru was a great man.

10. Slowly and Lowly
Slowly का अर्थ है धीरे-धीरे। यह शब्द quickly का उल्टा है। Lowly का अर्थ है धीमे-धीमे। यह शब्द loudly का उल्टा है। Shyam is reading the book slowly. Shyam is reading the book lowly. पहले वाक्य का अर्थ है कि रोहन की आवाज तो तेज है, पर पढऩे की गति धीमी है। दूसरे का अर्थ है कि आवाज धीमी है जिससे वह सुनाई नहीं पड़ती।

11. Some time, sometimes
Some time एक Noun है इसका अर्थ 'कुछ काल' है। Sometimes एक शब्द है, दो नहीं है। इनके अन्त में s है। यह Adverb है। इसका अर्थ कभी-कभी है। I stayed at Jaipur for sometime. मैं जयपुर कुछ काल तक ठहरा। Sometimes my father gets angry. कभी-कभी मेरे पिता रंज हो जाते हैं।

12. Direct, Directly
Ram went home direct. Ram went home directly. राम बीच में नहीं ठहरा, सीधे घर गया। राम तुरंत घर चला गया।

13. (i) हम प्राय: Adjective के बाद ly लगाकर Adverb बनाते हैं-wise–wisely, foolish–foolishly, faithful–faithfully, beautiful–beautifully.
(ii) जिस Adjective के अन्त में le रहता है तो y लगाने के पहले e हट जाता है। जैसे, single–singly, double–doubly. परन्तु true से truly बनता है। le न रहते हुए भी true का ‘e’ हट गया।
(iii) ly जुटने के पहले consonant (व्यंजन) संयुक्त ‘y’ का i हो जाता है-heavy–heavily, happy–happily, ready–readily. परन्तु gay का gayly और gaily दोनों रूप है।

Courses
  • I-Grade
  • II-Grade
  • III-Grade
  • SSC(CGL/10+2)
  • Bank PO
  • Bank Clerk
  • IAS/RAS/RJS